BSSR यूनियन की भागलपुर यूनिट का द्विवार्षिक सम्मेलन सम्पन्न, नितिन कुमार अध्यक्ष, सुवोजित सेन गुप्त सचिव व के के झा कोषाध्यक्ष निर्वाचित

Munger Times

BSSR यूनियन की भागलपुर यूनिट का द्विवार्षिक सम्मेलन सम्पन्न, नितिन कुमार अध्यक्ष, सुभाजित सेन गुप्त सचिव व के के झा कोषाध्यक्ष निर्वाचित

BSSR Union की भागलपुर इकाई का द्विवार्षिक सम्मेलन covid प्रोटोकॉल का अनुशरण करते हुए यूनियन के स्थानीय कार्यालय में संपन्न हो गया। सम्मेलन की शुरुआत यूनिट के अध्यक्ष नितिन कुमार द्वारा झंडोत्तोलन के साथ शुरू हो गया।झंडोत्तोलन के पश्चात सदस्यों ने शहीद वेदी पर पुष्पांजलि अर्पित किया। 

सम्मेलन का उद्घाटन CITU के जिला समन्वयक दशरथ प्रसाद ने किया।उन्होंने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए केंद्र सरकार की मजदूर विरोधी, किसान विरोधी नीतियों की चर्चा की और सदस्यों से इसके खिलाफ सड़क पर उतरने की अपील की।उन्होंने साफ साफ कहा कि यह सरकार किसानों से उनकी जमीन और मजदूरों से उनके अधिकार छीन कर गुलामी की ओर धकेलना चाहती है। दशरथ प्रसाद ने BSSRU की क्रांतिकारी विरासत को याद करते हुए उन्हें अपने संघर्ष को और आगे ले जाने की अपील की 

FMRAI के वर्किंग कमिटी सदस्य व BSSRU के उपाध्यक्ष अजय कुमार ने सम्मेलन के बिजनेस सेशन का उद्घाटन करते हुए देश के वर्तमान राजनीतिक आर्थिक हालात की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने सदस्यों से राजनीतिक प्रतिबद्धता से अलग होकर सरकार की नीतियों पर गौर से नजर रखने की अपील की। उन्होंने केंद्र सरकार की नीतियों को मजदूर विरोधी व कॉरपोरेट समर्थक बताया।उन्होंने कहा कि यह सरकार सिर्फ पूंजीपतियों के हितों की चिंता कर रही है। उन्होंने सरकार द्वारा जन आंदोलनों के प्रति सरकार व सत्ताधारी दल के रवैय्ये की निंदा करते हुए उसे लोकतंत्र विरोधी बताया।






अजय कुमार ने सदस्यों को अपनी लड़ाई के साथ साथ किसानों,मजदूरों व गरीबों के संघर्ष से समन्वय रखते हुए उनमें शिरकत करने की अपील की। सम्मेलन में शुभोजीत सेन गुप्ता ने सेक्रेटरी का और के के झा ने कोषाध्यक्ष का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।दोनों के रिपोर्ट पर सदस्यों बहस में हिस्सा लिया। दिनेशकुमार,अवधेश प्रसाद आदि ने अपने विचार रखे। बहस के उपरांत दोनों रिपोर्ट को सर्वसम्मति से पारित कर दिया।

 



सम्मेलन के मुख्य वक्ता BSSRU के महासचिव व FMRAI के उपाध्यक्ष देबाशीष राय ने कहा कि हम बहुत विषम परिस्थितियों से गुजर रहे हैं।सरकार की नीतियों की चर्चा करते हुये कहा कि सरकार और प्रबन्धन की मनमानी से देश का मजदूर तबाह है। पेंडेमिक के दौरान सरकार प्रभावित तबकों खासकर मजदूर वर्ग से को राहत देने की बजाय कॉरपोरेट को लाभ पहुंचाने के एजेंडे पर काम कर रही है। देबाशीष राय ने सेल्स प्रोमोशन एक्ट लागू होने के लिये हुए बी एस एस आर यूनियन एवम एफएमआरएआई के संघर्षों की चर्चा की और वर्तमान सरकार द्वारा इसे खत्म करने की साजिश का खुलासा किया।
देबाशीष राय ने मैनेजमेंट द्वारा कानून की अवहेलना कर फील्ड वर्कर्स पर एकतरफा दमनात्मक कार्रवाइयों की विस्तार से चर्चा की और कहा इन परिस्थितियों में संघर्ष के अलावा कोई रास्ता नहीं है।

उन्होंने संघर्ष को तेज करने और योजनाबद्ध संघर्ष के तरीकों के साथ आगे बढ़ने का आह्वान किया।
बिजनेस सेशन के अंतिम चरण में नई कमिटी के चुनाव की प्रक्रिया सम्पन्न हुई। संजीव मिश्रा व दिनेश कुमार ने चुनाव प्रक्रिया का संचालन किया। चुनाव में नितिन कुमार अध्यक्ष, भास्कर सिंह उपाध्यक्ष, शुभोजीत सेन गुप्ता सचिव,देबव्रत लाल सहायक सचिव एवम कृष्ण कुमार झा पुनः कोषाध्यक्ष के लिए निर्विरोध निर्वाचित घोषित हुए। दस सदस्य लोकल कमिटी का भी निर्विरोध निर्वाचन सम्पन्न हुआ।लोकल कमिटी सदस्यों में बिनय चंद्र,नीरज गुप्ता,राज किशोर कुमार,राजन सिंह,कुंदन सिंह,अमित रक्षित, रणधीर सिंह,शत्रुघ्न सिंह,सुभाशीष पाल, राजीव कुमार एवम रणजीत आचार्य को स्थायी आमंत्रित सदस्य व मिडिया प्रभारी के रूप में चुना गया।
कांफ्रेंस ने BSSRU के आगामी सम्मेलन हेतु 23 डेलीगेट का भी चुनाव किया।
सभा की अध्यक्षता व संचालन यूनिट के अध्यक्ष नितिन कुमार ने किया।


टिप्पणी पोस्ट करें (0)
नया पेज पुराने